कांग्रेस से रूठी रंगीला गर्ल! पहले छोड़ी पार्टी अब नहीं माना प्रचार का प्रस्ताव

0

चुनाव में प्रचार का सहारा लेने के लिए कांग्रेस पार्टी की ओर से अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर से संपर्क किया गया, लेकिन उर्मिला ने प्रचार करने से इनकार कर दिया है. उर्मिला ने लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस पार्टी को अलविदा कह दिया था।

महाराष्ट्र में चुनावी दंगल की शुरुआत हो गई है, दो हफ्ते बाद राज्य में मतदान भी होना है. भारतीय जनता पार्टी सत्ता में वापसी की कोशिशें कर रही हैं, तो वहीं कांग्रेस को राज्य में अंदरूनी कलह का सामना करना पड़ रहा है. चुनाव में प्रचार का सहारा लेने के लिए कांग्रेस पार्टी की ओर से अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर से संपर्क किया गया, लेकिन उर्मिला ने प्रचार करने से इनकार कर दिया है. उर्मिला ने लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस पार्टी को अलविदा कह दिया था।

दरअसल, मीडिया में इस बात की हलचल है कि कांग्रेस पार्टी ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए उर्मिला मातोंडकर से संपर्क किया था. मुंबई कांग्रेस के नेता एकनाथ गायकवाड़ की ओर से उर्मिला से संपर्क किया गया था और प्रचार में शामिल होने की बात कही गई थी. लेकिन अब सूत्रों की मानें तो उर्मिला मातोंडकर ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया है।

बता दें कि उर्मिला मातोंडकर ने लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ज्वाइन की थी, मुंबई उत्तर सीट से उन्होंने चुनाव भी लड़ा लेकिन हार गईं. इसी के बाद उर्मिला ने लोकसभा चुनाव के बाद पार्टी छोड़ने का फैसला लिया, इस दौरान उर्मिला ने पार्टी में अंदरूनी कलह होने का आरोप लगाया था।

पार्टी छोड़ते वक्त उर्मिला ने कहा था कि मेरी राजनीतिक और सामाजिक संवेदनाएं बड़े लक्ष्य को हासिल करने के लिए हैं, लेकिन मुंबई कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति के कारण मैं ऐसा कर नहीं पा रही हूं.

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी महाराष्ट्र में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है, लेकिन मुंबई कांग्रेस में अंदरूनी लड़ाई भी चल रही है. संजय निरूपम ने आरोप लगाया है कि टिकट बंटवारे में उनकी बात नहीं सुनी गई और प्रेस कॉन्फ्रेंस में पार्टी के खिलाफ ही उन्होंने मोर्चा खोल दिया. साथ ही मिलिंद देवड़ा भी चुनाव प्रचार में अभी कहीं नज़र नहीं आ रहे हैं।

स्रोत : आज तक

LEAVE A REPLY