महाराष्ट्र चुनाव: असंतुष्ट विधायकों को नामांकन वापस लेने के लिए मनाया भाजपा, शिवसेना ने

0

महाराष्ट्र चुनाव: भाजपा, शिवसेना ने असंतुष्ट विधायकों को नामांकन वापस लेने के लिए मनाया

महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव में अपने असंतुष्ट नेताओं को दोनों पार्टियों के आधिकारिक उम्मीदवारों के खिलाफ औरंगाबाद से दाखिल अपने अपने नामांकन वापस लेने के लिए राजी कर लिया है। सोमवार को नामांकन वापस लेने का अंतिम दिन था।

महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा और शिवसेना ने अपने असंतुष्ट नेताओं को दोनों पार्टियों के आधिकारिक उम्मीदवारों के खिलाफ औरंगाबाद से दाखिल अपने अपने नामांकन वापस लेने के लिए राजी कर लिया है। सोमवार को नामांकन वापस लेने का अंतिम दिन था। इसी दिन भाजपा के मंत्री अतुल सावे, निवर्तमान विधानसभा अध्यक्ष हरिभाऊ बगाड़े तथा अन्य आधिकारिक उम्मीदवारों के खिलाफ नामांकन दाखिल करने वाले असंतुष्टों ने अपने नामांकन वापस ले लिए।

सावे औरंगाबाद (पूर्व) विधानसभा सीट से भाजपा के उम्मीदवार हैं वहीं बगाड़े फूलंबरी सीट से चुनाव मैदान में हैं। नेताओं के समझाने-बुझाने के बाद शिव सेना की रेणुकादास वैद्य ने औरंगाबाद (पूर्व) से सावे के खिलाफ अपना नामांकन वापस ले लिया। सावे ने कहा, ‘‘भाजपा और शिवसेना मिल कर चुनाव लड़ रहे हैं। इसलिए दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं को मिल कर काम करना चाहिए। हमने असंतुष्ट उम्मीदवारों को मनाने की भरसक कोशिश की और हम सफल रहे। इससे गठबंधन को औरंगाबाद में ज्यादा से ज्यादा वोट मिल सकेंगे।’’

उन्होंने कहा कि वे भाजपा कार्यकर्ता राजू शिंदे को नामांकन वापस लेने में मनाने मे सफल नहीं हुए जिन्होंने औरंगाबाद (पश्चिम) सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया है। इस सीट से शिव सेना के संजय श्रीसत चुनाव मैदान में है। भाजपा अपने शहर इकाई के उपाध्यक्ष बालासाहेब गायकवाड को नामांकन वापस लेने के लिए मनाने में सफल रही। उन्होंने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर पर्चा दाखिल किया था।

स्रोत : इंडिया टीवी

LEAVE A REPLY