हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: भोजपुरिया सितारों की फौज पूर्वांचली वोटर्स को लुभाएगी BJP के भोजपुरिया सितारों की फौज

0

हरियाणा (Haryana) में पूर्वांचली वोटरों को लुभावने के लिए भोजपुरी कलाकारों का मेला लगने जा रहा है, लेकिन कांग्रेस की चिंता यह है कि बीजेपी की तुलना में उनके पास भोजपुरी कलाकार नहीं के बराबर हैं।

हरियाणा विधानसभा चुनाव को लेकर पूर्वांचली वोटरों का उत्साह चरम पर है. दिल्ली से सटे हरियाणा के कई विधानसभा क्षेत्रों में इस बार पूर्वांचली वोटर्स निर्णायक भूमिका निभा रहे हैं. खासकर साइबर सिटी कहे जाने वाले गुरुग्राम और फरीदाबाद की सभी विधानसभा सीटों पर तो पूर्वांचली वोटर्स नतीजे तय करते आए हैं. सोनीपत, रोहतक, करनाल, अंबाला कैंट एरिया में भी पूर्वांचली वोटर्स राजनीतिक पार्टियों के लिए काफी अहम साबित होते हैं।

इसी को ध्यान में रखते हुए इस बार राजनीतिक पार्टियां पूर्वांचली वोटरों को साधने के लिए कई भोजपुरी और फिल्मी कलाकारों को मैदान में उतारने जा रही हैं. मनोज तिवारी , रवि किशन , दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ पवन सिंह, खेसारीलाल यादव के साथ बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा पूर्वांचली वोटरों को लुभाने के लिए ताबड़तोड़ चुनाव प्रचार करने वाले हैं।

बता दें कि बीते कई सालों से यूपी-बिहार से आए बड़ी तादाद में लोग हरियाणा के अलग-अलग हिस्सों में बस गए. अब ये लोग यहां के स्थाई निवासी हो कर रह गए हैं. कभी हरियाणा की राजनीति में जाट और गैरजाट जो भूमिक अदा करते थे, वह स्थिति अब पूर्वांचली वोटर्स तय करने लगे हैं. राजनीतिक पार्टियां पूर्वांचली वोर्टर्स को लुभाने के लिए कई भोजपुरी कलाकरों को मैदान में उतारने जा रही है. दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और गोरखपुर से बीजेपी सांसद और भोजपुरी एक्टर रवि किशन जहां बीजेपी के लिए स्टार प्रचारक की भूमिका में रहेंगे वहीं सपना चौधरी जैसी हरियाणावी लोक गायिका भी बीजेपी के लिए वोट मांगेंगी. सपना चौधरी के बारे में कहा जाता है कि हरियाणा की होते हुए भी वह पूर्वांचली वोटर्स के दिलो-दिमाग में बसती हैं।

इस बार हरियाणा के चुनावी संग्राम में बीजेपी के पास कई स्टार प्रचारक हैं. बीजेपी सांसद मनोज तिवारी की अगुवाई में ये कलाकार बीजेपी के लिए जबरदस्त कैंपेनिंग करने जा रहे हैं. भोजपुरी फिल्मों के सुपर स्टार मनोज तिवारी का रसूख भी इस समय सातवें आसमान पर है. मनोज तिवारी के साथ दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ और पवन सिंह जैसे कलाकारों की मौजूदगी में बीजेपी पूरी ताकत के साथ चुनाव प्रचार करने वाली है।

अगर बात कांग्रेस की करें तो इस बार कांग्रेस के पास भोजपुरी फिल्मों का कोई भी बड़ा चेहरा तो नहीं है, लेकिन इसकी कमी दूर ‘बिहारी बाबू’ शत्रुघ्न सिन्हा दूर कर सकते हैं. पार्टी नेताओं का कहना है कि ‘बिहारी बाबू’ शत्रुघ्न सिन्हा को कांग्रेस हरियाणा और महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार के लिए उतारने जा रही है. इसके साथ ही बॉलीवुड और भोजपुरी फिल्मों में काम करने वाली नगमा भी मैदान में उतरेगी. साथ ही कांग्रेस पार्टी बीते लोकसभा चुनाव में मुंबई से लोकसभा चुनाव लड़ चुकी उर्मिला मातोंडकर के बारे में भी सोच रही है, लेकिन उर्मिला ने हाल ही में कांग्रेस से नाराज हो कर पार्टी से इस्तीफा दे दिया था।

क्योंकि, महाराष्ट्र में भी विधानसभा का चुनाव हरियाणा के साथ-साथ ही हो रहे हैं इसलिए बहुत कम ही उम्मीद है कि नगमा ज्यादा समय हरियाणा में दे पाएं. कांग्रेस पार्टी के कुछ नेताओं का कहना है कि राज बब्बर को भी हरियाणा चुनाव में उतारने के लिए मनाया जा रहा है. हालांकि, राज बब्बर के बारे में कहा जा रहा है कि पिछले कुछ दिनों से वह पार्टी नेतृत्व से खफा हैं।

अगर देखें तो इस समय भोजपुरी इंडस्ट्री और फिल्मी इंइस्ट्री के लगभग सभी बड़े कलाकर बीजेपी के पाले में हैं. बीजेपी ने बीते कई सालों में कई भोजपुरी कलाकारों को भी मैदान में उतारा है. बीते लोकसभा चुनाव में ही आजमगढ़ से अखिलेश यादव के सामने बीजेपी ने दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ को मैदान में उतारा था. भोजपुरी कलाकार रवि किशन को भी गोरखपुर सीट से बीजेपी ने उम्मीदवार बनाया था वह और वह चुनाव भी जीते थे. इसी तरह मनोज तिवारी लगातार दूसरी बार दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट से चुनाव जीत कर संसद पुहंचे हैं. साथ ही वह दिल्ली में बीजेपी के सीएम चेहरा के तौर पर प्रोजेक्ट किए जा रहे हैं।

ऐसे में देखा जाए तो स्टार प्राचरकों की संख्या कांग्रेस से ज्यादा बीजेपी के पास है. इसलिए बीजेपी 2014 की तरह ही इस बार पूर्वांचली वोटरों को हाथ से खिसकने देना नहीं चाहती है. दूसरे राजनीतक दलों के नुमाइंदे भी इन पूर्वांचली वोटरों को लुभाने के लिए तरह-तरह के वायदे कर रहे हैं. इन भोजपुरी कलाकारों का कार्यक्रम दशहरा से ही शुरू हो रहा है. भोजपुरी कलाकारों का पहला कार्यक्रम गुरुग्राम से शुरू होने जा रहा है. जिले के बादशाहपुर, गुड़गांव, बावल और रेवाड़ी में पूर्वांचल वोटरों की संख्या को देखते हुए अगले कुछ दिनों में ‘आई हूं यूपी-बिहार लूटने’ जैसी गाना खूब बजेंगे।

स्रोत : News 18

LEAVE A REPLY