300 कार्यकर्ताओं के साथ 28 पार्षदों के इस्तीफे मतदान से पहले शिवसेना के लिए बुरी खबर

0

टिकट वितरण पर ठाणे में शिवसेना के 28 निगम पार्षदों ने अपनी नाराजगी जाहिर की और पार्टी चीफ उद्धव ठाकरे को इस्तीफे भेज दिए. इतना ही नहीं, इन पार्षदों के साथ करीब पार्टी के 300 कार्यकर्ताओं ने भी खुद को पार्टी से अलग करने का निर्णय लिया है।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए होने वाले मतदान से पहले शिवसेना को बड़ा झटका लगा है. पार्टी से जुड़े 28 पार्षदों ने करीब 300 कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को इस्तीफे भेज दिए हैं. इन सभी नेताओं ने टिकट वितरण से नाखुश होकर यह कदम उठाया है।

अब मतदान में महज कुछ ही दिन बचे हैं. राज्य की 288 विधानसभा सीटों पर 21 अक्टूबर को मतदान होना है. नामांकन की प्रक्रिया भी एक हफ्ता पहले ही पूरी हो चुकी है. लेकिन टिकट वितरण को लेकर नेताओं व कार्यकर्ताओं की नाराजगी खत्म नहीं हो रही है. बुधवार को ठाणे में शिवसेना के 28 निगम पार्षदों ने अपनी नाराजगी जाहिर की और पार्टी चीफ उद्धव ठाकरे को इस्तीफे भेज दिए. इतना ही नहीं इन पार्षदों के साथ करीब पार्टी के 300 कार्यकर्ताओं ने भी खुद को अलग करने का निर्णय लिया है।

बता दें कि बागी नेता बीजेपी और शिवसेना दोनों के लिए ही चुनौती बने हुए हैं. दोनों पार्टियां कम से कम 30 सीटों पर ऐसे विरोध का सामना कर रही हैं. हालात ये हैं कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने यहां तक चेतावनी दी है कि अगर बागी चुनावी मैदान से नहीं हटे तो ‘उन्हें उनकी जगह दिखा दी जाएगी।

अब शिवसेना से जुड़े पार्षदों ने टिकट वितरण असहमति का इजहार करते हुए पार्टी से खुद को अलग करने का कदम उठाया है. मतदान से पहले पार्टी के लिए यह बड़ा नुकसान साबित हो सकता है।

स्रोत : आज तक

LEAVE A REPLY